सच का हुआ पर्दाफाश-इस वजह से श्रीदेवी के अंतिम संस्कार में नहीं घुसने दिया मीडिया को जानकर दंग रह जाएंगे।

526

श्रीदेवी नहीं रहीं, मौत के पांच दिनों बाद बड़ी ही कशमकश के बाद श्रीदेवी का अंतिम संस्कार किया गया था. जब से श्रीदेवी की मौत की ख़बर आई तब से मीडिया ने दुबई से लेकर हिन्दुस्तान तक श्रीदेवी और उनके परिवार का पीछा नही छोड़ा. दुबई में श्रीदेवी की मौत कैसे हुई, हॉस्पिटल में पोस्टमार्टम रिपोर्ट का हाल, अनिल अंबानी के प्राइवेट जेट से श्रीदेवी के शव को मुंबई लाने के साथ-साथ उनके अंतिम संस्कार तक मीडिया हर जगह दखल देता नज़र आया, जिससे श्रीदेवी के परिवार वाले भी काफी नाराज़ दिखाई दिए.

मीडिया श्रीदेवी की मौत को लेकर ऐसे बर्ताव कर रहा था जैसे कि मानों वो ही उनका परिवार है|

बाकी उनके पति,उनके बच्चे और उनका खानदान उनका कुछ भी नहीं है. वहीँ श्रीदेवी के अंतिम संस्कार वाले दिन की अगर बात करें तो इस दिन तो मानों हद्द ही हो गयी इस दिन तो मानों ऐसा लग रहा था जैसे कि श्रीदेवी को मुखाग्नि उनके पति बोनी कपूर नहीं बल्कि मीडिया ही देने वाली है.

इन सभी से परेशान होकर कपूर खानदान ने अंतिम संस्कार वाले दिन कुछ ऐसा कर दिखाया जिसे देख हर कोई हैरान रह गया.

जी हाँ आपको बता दें कि मीडिया श्रीदेवी की विदाई तक तो उनके साथ रहा मगर अंतिम संस्कार के समय मीडिया को कपूर खानदान ने दूर रखा क्योंकि कपूर खानदान मीडिया से इतना ज्यादा तंग आ चुका था|जिसकी कोई सीमा नहीं थी

श्रीदेवी की मौत पर मीडिया ने कपूर खानदान का साथ देने के बजाय उन्ही के बारे में न जानें क्या कुछ नहीं कहा. 

किसी ने तो बोनी कपूर को ही उनका कातिल बता दिया तो किसी ने कहा कि श्रीदेवी नशेड़ी थीं, क़र्ज़ में डूबी हुई थीं.

ऐसी दुःख की घड़ी में इन्ही सभी बातों से कपूर परिवार आहत था और फिर उन्होंने मीडिया को सबक सीखने के लिए ऐसा कड़ा कदम उठाया. जानकारी के लिए आपको बता दें कि कपूर खानदान ने शमशान घाट के बाहर तैनात पुलिस वालों को शख्त निर्देश दिए थे कि चाहे कुछ भी हो जाये मीडिया शमशान घाट के भीतर नहीं घुसनी चाहिए और ऐसा हुआ भी इसी वजह से अब तक किसी को भी श्रीदेवी को मुखाग्नि दी गयी हुई तस्वीर नहीं मिल पायी है.