एक भारतीय महिला अपने बच्चों को बनाना चाहती है आतंकवादी, वजह आपके होश उड़ा देगी|

729

भारतीय लोगों को बरगलाकर खुंखार आतंकी संगठन आईएसआईएस(ISIS) में भर्ती कराने की खबरें तो आपने खूब सुनी होगी। लेकिन कभी सुना है कि कोई भारतीय महिला अपने बच्चों को आईएसआईएस में भर्ती कराना चाहती हैं। लेकिन बंग्लादेश की रहने वाली जोया चौधरी का सपना है कि उसके बच्चे बड़े होकर आतंकवादी संगठन आईएसआईएस में भर्ती हों।काफी समय से ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं जिनमें भारतीय नागरिकों को बहला फुसलाकर खुंखार आतंकी संगठन आईएसआईएस (ISIS) अपने ग्रुप में भर्ती कराने के लिए जाल बिछा रहा है। लेकिन अब एक ऐसा मामला सामने आया है जो आपके होश उड़ा देगा। दरअसल, एक भारतीय महिला अपने बच्चों को आईएसआईएस में भर्ती करावाने का सपना देख रही है। आपके मन में ये सवाल आ रहा होगा कि आखिर ये ऐसा क्यो करना चाहती है।

आखिर क्या है पूरा मामला…

दरअसल, जोया चौधरी बंगाल की रहने वाली है और उसका सपना है कि उसके बच्चे खुखार आतंकवादी संगठन आईएसआईएस में भर्ती हों। रिपोर्ट के मुताबिक साल 2004 में जोया चौधरी ने अमेरिका के रहने वाले जॉन जॉर्जेलस नाम के शख्स से शादी की थी। दोनों कि मुलाकात एक ऑनलाइन वेबसाइट के जरिए हुई। जब इन दोनों में बातचीत शुरु हुई उस वक्त तक जॉन ने इस्लाम धर्म कबूल कर लिया था। इस्लाम धर्म कबूल करने के बाद जॉन ने अपना नाम भी बदलकर याह्या अबू हसन रख लिया। गौरतलब है कि जॉन के पिता अमेरिकी वायु सेना में डॉक्टर के रूप में कार्य करते थे।

9/11 के हमलों के बाद अपनाया इस्लाम

सोचने वाली बात ये हैं कि अमेरिका पर हुए 9/11 के हमलों के बाद जॉन में आईएसआईएस में भर्ती होने का ख्याल आया, यानि उस वक्त वो इस्लाम और आतंकवाद से प्रभावित हुआ। इसके बाद जॉन ने अपनी टेक्सास कॉलेज में पढ़ाई के दौरान ही अपने दोस्तों को छोड़कर मुस्लिम छात्रों के ग्रुप के साथ रहने और घुमने लगा। एक मुस्लिम डेटिंग वेबसाइट पर साल 2003 में जॉन की मुलाकात भारत की रहने वाली जोया चौधरी से हुई और दोनों ने साल 2004 शादी कर ली। एक भारतीय लड़की का इस तरह का कदम उठाना वो भी ये जानते हुए कि जॉन या याह्या अबू हसन खुखार आतंकवादी संगठन आईएसआईएस में भर्ती होना चाहता है, वाकई में चिंता वाली बात है।

जोया है कट्टरपंथी इस्लाम की प्रचारक

आपको जानकर आश्चर्य होगा कि आज जॉन उर्फ याह्या अबू हसन आईएसआईएस का आतंकी है। याह्या अबू हसन आईएसआईएस की ओर से इराक और सीरिया के आतंकवादी समूह में नए युवाओं को जोड़ने का काम करता है और कई घटनाओं में शामिल है। जोया अब अमेरिका में रहती है और जोया चौधरी एवं जॉन पर कट्टरपंथी इस्लाम का प्रचार करने का आरोप लग चुका है। खबर के मुताबिक जॉन काफी दिनों से अमेरिकी एंजेसियों को चकमा दे रहा है और वह इंटरनेट होस्टिंग कंपनी डलास में काम करते हुए ऑनलाइन तरीकों से अल-कायदा समर्थकों को एकजुट कर रहा है।